सर्वनाम: Hindi Class 4

सर्वनाम

संज्ञा के स्थान पर जिन शब्दो का प्रयोग किया जाता हैं उन्हें सर्वनाम कहते हैं।

जैसे- मैं,वह कौन,किसका आदि।

             सर्वनाम के प्रकार

सर्वनाम छह प्रकार के होते हैं

1.    पुरुषवाचक सर्वनाम

2.    निश्चयवाचक सर्वनाम

3.    अनिश्चयवाचक सर्वनाम

4.    संबंधवाचक सर्वनाम

5.    प्रश्नवाचक सर्वनाम

6.    निजवाचक सर्वनाम


1.पुरुषवाचक सर्वनाम- पुरुष के स्थान पर जिस सर्वनाम का प्रयोग होता है , उसे पुरुषवाचक सर्वनाम कहते हैं।

जैसे- मैं, हम, तो, तू,  वह तथा वे आदि ।

‘मै’ सर्वनाम बोलने वाले का, ‘तू’ तथा ‘तुम’ सर्वनाम सुनने वाले का तथा ‘वह’ तथा ‘वे’ सर्वनाम जिसके बारे में कुछ कहा जाए उसको बताता है । इन तीनों रुपों को व्याकरण में पुरुष कहा जाता है ।

 यह तीन प्रकार के होते है -

      १.उत्तम पुरुष- जिन शब्दों का प्रयोग बोलने कहने अथवा लिखने वाला अपने लिए करता है , वे उत्तम पुरुष कहलाते हैं ।

जैसे-  मैं , हम ।


      २.मध्यम पुरुष- जिन शब्दों का प्रयोग बोलने कहने अथवा लिखने वाला जिसे संबोधित करके कुछ कहे, लिखे या बात किए जाने वाले के लिए होता है, वह मध्यम पुरुष कहलाते हैं ।

जैसे- तू,तुम,तुझे,तुम्हें,आप,आप लोग आदि।


      ३.अन्य पुरुष- जिन शब्दों का प्रयोग बोलने कहने अथवा लिखने वाला जिसके विषय में बात की जा रही हो और जो वहां उपस्थित ना हो ।

जैसे- वह,उसका,उसने,उसे,वह आदि ।

पुरुषवाचक सर्वनाम का वर्गीकरण

कारक
उत्तम पुरुष
एकवचन       बहुवचन
मध्यम पुरुष
एकवचन       बहुवचन
अन्य पुरुष
एकवचन       बहुवचन
कर्त्ता
मै                  हम
तू                  तुम
वह                 वे
कर्म
मुझको           हमको
मेरा,मेरे         हमरा
तुझको           तुमको
तेरा,तेरे         तुम्हारा
उसको            उनको
उसका            उनका
सम्बन्ध
मेरी               हमारी
                    हमारे
तेरी               तुम्हरी
                     तुम्हारे
उसकी            उनकी
उसको            उनको



2.निश्चयवाचक सर्वनाम- जिन सर्वनाम शब्दों से किसी निश्चित वस्तु की ओर संकेत करते हैं ,उन्हें निश्चयवाचक सर्वनाम कहते हैं । इन सर्वनाम को संकेतवाचक सर्वनाम भी कहते हैं ।

जैसे:

  •         वह कहां रहता है ।
  •         वह राम का विद्यालय है ।
  •         यह मेरी पुस्तक है ।

उपर्युक्त उदाहरण में ‘यह , वह’ शब्द किसी निश्चित वस्तु की ओर संकेत करते है ।

3.अनिश्चयवाचक सर्वनाम- जिन सर्वनाम शब्दों से किसी निश्चित वस्तु की ओर संकेत नहीं होता है , उन्हें अनिश्चयवाचक सर्वनाम कहते हैं ।

जैसे- कोई ,कुछ, किसी को, किन्ही को आदि।
●     कोई इधर आ रहा है।
●     दूध में कुछ पड़ा है ।
●     तुमने किसी को देखा है।

उपर्युक्त वाक्यों में ‘कोई ,कुछ ,किसी को’ शब्दों से किसी निश्चित वस्तु का संकेत नहीं हो पा रहा है।

4.सम्बन्धवाचक सर्वनाम- जो शब्द एक सर्वनाम का दूसरे सर्वनाम के साथ संबंध का बोध कराते है, उन्हें सम्बन्धवाचक सर्वनाम कहते है।

जैसे -जो ,जिन्होंने ,जिसने ,जैसा आदि।
●     जैसी करनी ,वैसी भरनी।
●     जो करेगा, सो भरेगा।


5.प्रश्नवाचक सर्वनाम- वे सर्वनाम शब्द ,जो प्रश्न पूछने के प्रयोग में आते हैं,वह प्रश्नवाचक सर्वनाम कहलाते है ।

जैसे- कौन, क्या, किसे, किसने आदि ।
●     तुम कौन हो ।
●     तुम क्या कर रहे हो ।
●     खाट पर कौन बैठा हो ।
उपर्युक्त वाक्य में कौन, क्या शब्द प्रश्न पूछने के काम आ रहे है।


6.निजवाचक सर्वनाम- जिस सर्वनाम शब्दों से निजात अर्थात अपनेपन का बोध होता है उन्हें निजवाचक सर्वनाम कहते हैं ।

जैसे- आप ,स्वयं ,खुद ,अपने आप आदि।
●     मैं खुद चली जाऊंगी ।
●     वह स्वयं समझदार है ।
●     मैं स्वयं आ जाऊंगा ।
●     उसने सारा काम अपने आप किया।
यदि आप किसी topic पर one-liner, Quiz चाहते हैं या आपके पास कोई सुझाव है कृपया हमें नीचे comment box में लिखें 
चर्चा व प्रश्नोत्तर हेतु हमें  whatsaap पर सम्पर्क करें: 9453513579
&
सर्वनाम: Hindi Class 4 सर्वनाम: Hindi Class 4 Reviewed by Unknown on 13:00:00 Rating: 5

1 comment:

Theme images by chuwy. Powered by Blogger.