सहायक अध्यापक 68500 की कहानी, आप की जुबानी


आइए शुरू करते हैं 68500 की कहानी, मार्च 2016 में जैसे ही वर्तमान सरकार सत्ता में आई बेरोजगारों की खुशी का कोई ठिकाना नहीं था हो भी क्यों ना आखिर प्रधान सेवक ने सपने जो दिखाए, धीरे-धीरे समय बीतता गया है आज नहीं कल, कल नहीं परसों बंपर भर्ती की खबरें अखबारों में कैद होती गई इसी बीच एक सरकारी term आया ‘सरप्लस’  जो शिक्षक भर्ती से संबंधित था, इसका सीधा सा अर्थ है आवश्यकता से अधिक, जहां तक मुझे याद है कि मैं BTC के तृतीय सेमेस्टर में था जब यह term सरकार ने खोजा था, उसके अगले दो-तीन सप्ताह में माननीय सर्वोच्च न्यायालय से शिक्षामित्रों का समायोजन रद्द हो गया और उसी दौरान तुरंत सरकार ने मात्र समायोजित पदों की भर्ती निकालकर व्यवहार कैश कर लिया, क्या सरकार ने यह बताया जब 12407 पद अभी भी pending है तो यह सरप्लस का जुमला कहां से आ गया? एक बात और गौर करने वाली यदि सुप्रीम कोर्ट का आदेश न होता तो शिक्षामित्रों की अहर्ता पूरी मान ली जाती तो 68500 भर्तियाँ ख्वाब ही रहती जैसे 12460 हैं आपने भर्ती निकाली ही कब, जो खाली हुई उसे भर दिया !



बेहद ताजा जानकारी यह है कि दिल्ली राज्य जहां हाल ही में प्राइमरी अध्यापक हेतु भर्तियाँ आई हैं और वहां के अभ्यर्थी पिछले 1 साल से c-tet का इंतजार कर रहे हैं जो अभी तक नहीं कराया गया नतीजा यह हुआ लाखों अभ्यर्थी भर्ती से बाहर होने की कगार पर पहुंच गए हैं, मजबूरन लोग court गए, अन्तत: आदेश हुआ जब सरकार ने पात्रता परीक्षा कराई ही नहीं तब राज्य स्तरीय उत्तीर्ण परीक्षा मान्य की जाएगी अब बताइए इसमें गलती किसकी है और अभी भी c-tet का कुछ पता नहीं है ! 

चलिए लौटते हैं उत्तर प्रदेश की ओर, वहां जहां से शुरुआत की गई थी, विधिक आदेश के बाद सरकार ने उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा का आयोजन किया, नकल विहीन परीक्षा संपन्न हुई, लेकिन क्या इस परीक्षा की शुचिता का ख्याल रखा गया या फिर किसी पूर्व मंशा के तहत व्यवस्था चरमरा दी गई, नतीजा यह हुआ कि 14 प्रश्नों को माननीय उच्च न्यायालय लखनऊ में challenge करना पड़ा आखिर क्यों? 

अंत में सिर्फ यही कहूंगा 68500 को अग्रिम शुभकामनाएं, सही समय पर सही दावं✍️
आकाश पटेल
9451683646 
(प्रदेश विधि सलाहकार, ट्रेनी टीचर्स परिवार वेलफेयर एसोसिएशन उन्नाव)



सहायक अध्यापक 68500 की कहानी, आप की जुबानी सहायक अध्यापक 68500 की कहानी, आप की जुबानी Reviewed by Unknown on 08:47:00 Rating: 5

No comments:

Theme images by chuwy. Powered by Blogger.