History of the day 2 January


चर्चा व प्रश्नोत्तर हेतु हमें  whatsaap पर सम्पर्क करें: 7007709225, 7007995527
एवं
1954-पद्म विभूषण पुरस्कार की स्थापना 2 जनवरी 1954 में की गयी थी#eyesunit
आज के दिन भारत रत्‍न पुरस्कार 2 जनवरी 1954 को प्रारम्भ किया गया था#eyesunit
1973- जनरल एस. एफ. ए. जे. मानिक शॉ को फ़ील्ड मार्शल बनाया गया#eyesunit
1989 - रणसिंधे प्रेमदास श्रीलंका के राष्ट्रपति बने#eyesunit
1991- तिरुअनंतपुरम हवाई अड्डा को अंतर्राष्ट्रीय स्तर का बनाया गया#eyesunit
2002 - अर्जेन्टीना में 12 दिन में पांचवां राष्ट्रपति नियुक्त, देश दिवालिया घोषित#eyesunit
2008-चिली का दक्षिणी लाइमा ज्वालामुखी फटा#eyesunit
2010-सोमालियाई जलदस्युओं ने इटली के जेनओआ से सोमालिया होते हुए भारत के कांडला बंदरगाह आ रहे सिंगापुर ध्वजवाहक एम.वी. प्रमोनी नामक रसायनिक जलपोत का अपहरण कर लिया#eyesunit

हैप्पी b- डे🍼
1878 - मन्नत्तु पद्मनाभन - केरल के प्रसिद्ध समाज सुधारक
1905- जैनेन्द्र कुमार- हिन्दी साहित्य के प्रसिद्ध मनोवैज्ञानिक कथाकार और उपन्यासकार।
1906 - डी. एन. खुरोदे - प्रसिद्ध भारतीय उद्यमी थे, जिनका भारत के दुग्ध उद्योग में योगदान।
1940 - एस. आर. श्रीनिवास वर्द्धन- भारतीय अमरीकी गणितज्ञ।
1970 - बुला चौधरी - प्रसिद्ध तैराक।

शोक:-😭
1987 - हरे कृष्ण मेहताब - 'भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस' के प्रमुख नेता तथा आधुनिक उड़ीसा के निर्माताओं में से एक।
2011- बली राम भगत, प्रसिद्ध स्वतंत्रता सेनानी एवं पूर्व लोकसभा अध्यक्ष
1989 - सफ़दर हाशमी - प्रसिद्ध मार्क्सवादी नाटककार, कलाकार, निर्देशक एवं गीतकार।
1950 - डॉ. राधाबाई - प्रसिद्ध महिला स्वतंत्रता सेनानी तथा समाज सुधारका।
2010 - राजेन्द्र शाह- गुजराती साहित्यकार
2014 - अन्नाराम सुदामा, राजस्थानी भाषा के प्रसिद्ध साहित्यकार

विशेष:-👁
भारत रत्न भारत का सर्वोच्च नागरिक सम्मान है।यह सम्मान राष्ट्रीय सेवा के लिए दिया जाता है। इन सेवाओं में कला, साहित्य, विज्ञान, सार्वजनिक सेवा और खेल शामिल है। इस सम्मान की स्थापना तत्कालीन राष्ट्रपति श्री राजेंद्र प्रसाद द्वारा की गई थी। प्रारम्भ में इस सम्मान को मरणोपरांत देने का प्रावधान नहीं था, यह प्रावधान १९५५ में बाद में जोड़ा गया। तत्पश्चात् १३ व्यक्तियों को यह सम्मान मरणोपरांत प्रदान किया गया। सुभाष चन्द्र बोस को घोषित सम्मान वापस लिए जाने के उपरान्त मरणोपरान्त सम्मान पाने वालों की संख्या १२ मानी जा सकती है। एक वर्ष में अधिकतम तीन व्यक्तियों को ही भारत रत्न दिया जा सकता है#eyesunit.com

चर्चा व प्रश्नोत्तर हेतु हमें  whatsaap पर सम्पर्क करें: 7007709225, 7007995527
एवं

History of the day 2 January History of the day 2 January Reviewed by Eyes Unit on 11:53:00 Rating: 5

No comments:

Theme images by chuwy. Powered by Blogger.